ISRO me scientist kaise bane | इसरो में साइंटिस्ट कैसे बने

ISRO me scientist kaise bane | इसरो में साइंटिस्ट कैसे बने 


ISRO me scientist kaise bane
ISRO me scientist kaise bane



ISRO हमारे देश की स्पेस एजेंसी जिसमे काम करने का सपना बहुत से स्टूडेंट देखते है वो स्कूल से ही ये सोचने लगते है की इसरो में साइंटिस्ट कैसे बने। और सोचे भी क्यों ना आखिर इसरो ने ISRO हमारे देश की स्पेस एजेंसी जिसमे काम करने का सपना बहुत से स्टूडेंट देखते है वो स्कूल से ही ये सोचने लगते है की इसरो में साइंटिस्ट कैसे बने। 


और सोचे भी क्यों ना isro ने कई बड़ी बड़ी कामयाबी को छुआ है। जो काम दुनिया के टॉप स्पेस एजेंसी से न हो सका वो काम इसरो ने बहुत ही आसानी से कर दिखाया है। और इसपे हमें गर्व भी है। तो क्या आप जानते है की कैसे आप ISRO में साइंटिस्ट बन सकते है ?

हेलो दोस्तों कैसे है आप लोग ? उम्मीद है बढ़िया होंगे आज की इस पोस्ट में हम आपको जानकारी देने वाले की आप इसरो में साइंटिस्ट कैसे बन सकते है। बच्चे 10th और 12th के बाद ये सोचने लगते है की कैसे वो इसरो को ज्वाइन कर सकते है ऐसा इसलिए होता है क्योकि वो अपनी दसवीं व बारवी की कक्षा तक आते आते अंतरिक्ष में काफी रूचि लेने लगते है और हो भी क्यों ना आखिर विज्ञानं विषय ही ऐसा है। 

इस पोस्ट में हम आपको पूरी जानकारी देंगे की इसरो में जाने के लिए आपको कौन से विषय पर ज्यादा ध्यान देना होगा , कौन से कॉलेज में एडमिशन लेना होगा ,इसके लिए आपकी क्या क्‍वॉलिफ़िकेश्‌न्‌ होना चाहिए और क्या इसके लिए आपको अलग से एग्जाम देना होगा आदि सरे सवालों के जवाब आपको इस पोस्ट में मिलने वाले है तो पोस्ट को ध्यान से पढ़िए। 


इसरो क्या है ? ( What is ISRO )

सबसे पहले आपको जान लेना चाहिए की इसरो आखिर है ? तो आपको बता दें की इसरो क पूरा नाम है Indian Space Research Organisation यह इंडिया की अंतरिक्ष एजेंसी है जिसका काम भारत को अंतरिक्ष विज्ञानं में नई उचाईयो तक ले जाना है। इसरो भारत और दुनिया भर की सेटेलाइट को अंतरिक्ष में पहुंचाने और अंतरिक्ष के बारे में जानने व उनपे रिसर्च करने का काम करती है। 


ISRO me scientist kaise bane


ISRO का हेडक्वार्टर बेंगलुरु में है । Isro की स्थापना साइंटिस्ट Dr. विक्रम साराभाई और भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू के द्वारा की गई थी । शुरुआत से लेकर अब तक isro ने बहुत ही बढ़िया काम करके भारत का नाम दुनिया भर में रोशन किया है और आज isro दुनिया की टॉप स्पेस एजेंसी में आता है । स्पेस से जुड़े हुए सभी काम भारत के लिए isro करता है ।

Isro me scientist kaise bane ( how to become a scientist in ISRO)

वैसे तो isro ज्वॉइन करने के कई तरीके है लेकिन isro में साइंटिस्ट बनने के लिए मैं यहां आपको तीन तरीके बनने वाला है जिसमे IIST ,IIT, NIT और isro एक्जाम शामिल है ।

1. IIST (Indian Institute of Space Technology) 

जैसे की इसके नाम से ही पता चलता है की ये संस्थान अंतरिक्ष से जुड़ी है मतलब की isro में अगर आप जाना जाता है तो आपको IIST में एडमिशन लेना होगा । अगर आप इस संस्थान में पड़े हुए हो तो आपको सीधे isro मे ले लिया जाता है ।

IIST में एडमिशन कैसे ले ? ( How to get admission in IIST )

IIST में एडमिशन लेने के लिए आपको 12th science और math के साथ कंप्लीट करनी होती है उसके बाद आपको JEE ( joint entrance exam ) देना होता है जो एक कठिन एक्जाम होता है पर अगर आपकी तैयारी अच्छी है तो आप आसानी से इसे पर कर सकते है ।

JEE एक एंट्रेंस एग्जाम है जिसे NTA ( National Test Agency ) द्वारा पूरे भारत में कंडक्ट कराया जाता है । इसके जरिए आप अच्छे कॉलेजों में एडमिशन ले सकते है । इस एक्जाम में multiple choice questions होते है और आपको इसमें काम से काम 60% अंक लाना जरूरी होता है । क्योंकि आपकी रैंक के अनुसार आपका एडमिशन IIST में हो पाएगा । 

आपका एडमिशन IIST में हो जाने के बाद आपको यहा 4 साल का B tech करना होगा या फिर 5 साल का dual degree program जिसमे आपको लगभग 7.5 CGPA (Cumulative Grade Points Average) लाना होता है । और ये करने के बाद जब भी isro की वेकेंसी निकलती है आपको hire कर लिया जाता है । लगभग सभी IIST के स्टूडेंट्स को ये जॉब्स मिल जाती है । 

IIST में admission लेने के लिए पूरी जानकारी आप www.iist.ac.in पर देख सकते है ।

2. Isro Direct Interviews

अगर आपने अपनी पढ़ाई इंडिया के टॉप इंस्टीट्यूट से कि है जैसे की IIT या NIT तो भी आप isro में साइंटिस्ट बन सकते है इसके लिए isro द्वारा इंटरव्यू कंडक्ट कराए जाते है जिसमे अगर आप पास हो जाते है तो आपको isro में साइंटिस्ट की जॉब मिल सकती है ।

Isro iit और nit के होनहार स्टूडेंट्स को मोका देता है की वो भी साइंटिस्ट बन सके । और यही बात isro को टॉप स्पेस एजेंसी बनती है ।

3. Isro Exams 

इसके अलावा isro हर साल एक्जाम भी कंडक्ट कराता है जिसे ICRB ( Isro Center Light Recruitment Board ) कहते है यह एक्जाम इलेक्ट्रॉनिक, मैकेनिकल और कंप्यूटर तीनों कैटेगरी के लिए कराया जाता है । आप Bechelor of Engineering, Bechelor of science और Bechelor of technology करने के बाद इस एक्जाम को दे सकते हो ।

इस एक्जाम को देने के लिए एक शर्त है की आपको 10th से लेकर जहा तक आप पड़े आपको 65 प्रतिशत से जायदा अंक मेंटेन करना होता है और कॉलेज में आपका स्कोर 6.84 CGPA होना चाहिए । अगर आपने अपनी ग्रेजुएशन कंप्लीट कर ली है तो आप इस एक्जाम को दे सकते है लेकिन ध्यान रहे फाइनल ईयर वाले स्टूडेंट इस एक्जाम को नही दे सकते है ।

Eligiblity of Scientist 

साइंटिस्ट बनने के लिए कोई एक खास कोर्स या विषय नही है । इसके लिए आपको दसवीं में गड़ित, विज्ञान और भौतिकी से 12th पास करनी होती है और आपको इसके लिए 65% से उपर स्कोर रखना बहुत जरूरी होता है ।

और इसके आगे की पढ़ाई में आपको Engineering , PhD और ग्रेजुएशन में भी 65% स्कोर आपको मेंटेन करके रखना पड़ता है । इसके बाद आप टाइम टू टाइम निकलने वाली वेकेंसी जो साइंटिस्ट के लिए होती है उसके लिए अप्लाई कर सकते है ।

वैसे तो हर साल जनवरी में वेकेंसी निकलती है और ज्यादा जानकारी के लिए आप ISRO Careers पर जाके देख सकते है । साइंटिस्ट बनने के लिए कोई उम्र नहीं होती है इसके लिए आप किसी भी उम्र में अप्लाई कर सकते है ।

Carreer of Space Scientist 

देखो एक साइंटिस्ट बनना इतना भी आसान नहीं है इसमें सालो की मेहनत लगती है साथ ही आपको अपना पूरा जीवन विज्ञान के लिए जीना पड़ता है । आप सोचोगे की मैं मेहनत करके साइंटिस्ट बन भी गया तो मेरे पास करियर के ऑप्शन क्या है तो आपको बता दूं आप साइंटिस्ट बनने के बाद आसानी से जॉब पा सकते है क्योंकि इस फील्ड में अभी के हिसाब से कंपटीशन कम है । 

लेकिन हा जॉब पाना इतना भी आसान नही है की आपने अपनी डिग्री कंप्लीट की और आपको जॉब मिल जाए । साइंटिस्ट बनने के बाद आप ISRO, NASA or DRDO जैसी बड़ी संस्थानों में काम कर सकते है । शर्त एक ही है की आपको आपकी पढ़ाई पर काफी मेहनत करनी पड़ेगी आपके सारे कांसेप्ट क्लियर रखने होंगे ।

Types of Space Scientist | स्पेस साइंटिस्ट कितने प्रकार के होते है ?

स्पेस साइंटिस्ट mainly चार तरह के होते है astrophysicists (खगोल वैज्ञानिक) , biologists (जीव वैज्ञानिक), chemists (रसायन वैज्ञानिक

1.Astrophysicists (खगोल वैज्ञानिक)

यह स्पेस साइंटिस्ट का एक ऐसा प्रकार है जो फिजिक्स और केमिस्ट्री की मदद से यूनिवर्स का अध्ययन करते है । इस तरह के साइंटिस्ट स्टार , ग्रहों और चंद्रमाओं आदि पर रिसर्च करते है । अधिक पढ़ें...

2. Biologists (जीव वैज्ञानिक)

जीव विज्ञानिक वो होता है जो जीवो के उपर रिसर्च करते है । इनका काम लाइफ के बारे में जानना उनके अलग अलग कैटेगरी में रखना और उनके बारे में सभी जानकारी लेना होता है । अधिक पढ़ें...

3. Chemists (रसायन वैज्ञानिक) 

रसायन विज्ञान में रासायनिक तत्वों पर अध्ययन किया किया जाता है जिसमे दूसरे ग्रहों के पर भी अलग अलग तरह के तत्व पाए जाते है और रसायन वैज्ञानिक का काम उनके बारे में पता करना तथा वहा पर की जा सकने वाली चीजों का पता लगाना है ।

एक स्पेस साइंटिस्ट में कौन सी खुबिया होनी चाहिए ? 

देखो वैसे तो एक साइंटिस्ट बनना आसान है लेकिन एक असली साइंटिस्ट बनना बहुत मुस्किल आपको अपनी जिंदगी विज्ञान पे समर्पित करनी होती है । आपको हर को चीज के बारे में पता होना चाहिए जो पृथ्वी पर होती है , उनका क्या कारण है किस चीज या तरीके से उसे कंट्रोल किया जा सकता है ।

एक असली साइंटिस्ट बनने के लिए आपके जो खुबिया होनी चाहिए वो मैं आपको बताने जा रहा हु अगर आप भी एक साइंटिस्ट बनना चाहते है तो ये खुबिया अपने अंदर जरूर लाए ।

1. समय पर नियंत्रण 

समय का सही इस्तेमाल करना आपको आना चाहिए जिससे आप आपके द्वारा करे जाने वाली चीजों का नियंत्रण अपने पास रख सके । क्योंकि आप जानते है किसी भी काम को करने में समय बहुत मान्यता रखता है और इस चीज पे कंट्रोल होना बहुत जरूरी है ।

2. धैर्य रखना 

आपको धैर्य रखना भी आना चाहिए क्योंकि जल्दीबाजी में काम बहुत बार खराब हो जाता है । और साइंटिस्ट को तो खास ध्यान रखना चाहिए क्योंकि उसके द्वारा की गई गड़नाए अगर गलत होती है तो उससे नुकसान भी हो सकता है ।

3. जिज्ञासा 

एक साइंटिस्ट में सबसे ज्यादा जरूरी जो होना चाहिए वो है जिज्ञासा ये ही वो चीज है जिसकी वजह से एक साइंटिस्ट अलग अलग शोध करते है उनको ये जानने की जिज्ञासा होती है की चीज जो घट रही है वो क्यों घट रही है ।

4. क्रिएटिविटी

साइंटिस्ट में नई सोच का नजरिया होना भी बहुत जरूरी होता है क्योंकि जब तक वो ऐसा नहीं सोचेगा तब तक वो भी एक आम आदमी की तरह सोचेगा । इसलिए क्रिएटिविटी का होना भी बहुत जरूरी है ।

5. समस्याओं को हल करना 

आपको समस्या को हल करना भी आना चाहिए । हल करना भी एक कला है जिससे आप अपनी साइंटिस्ट की डिग्री में वैल्यू add कर सकते है । क्योंकि देखा जाए तो साइंटिस्ट का काम ही समस्याओं को हल करने का है ।

6. खुले विचारों वाला 

एक वैज्ञानिक को कभी अपने विचारो को बाध्य नहीं करना चाहिए ना ही किसी धर्म के हिसाब से न ही किसी अन्य कारणो से । क्योंकि अगर वो अपने विचारो को खुला नहीं रखकर बंद रखेगा तो उसकी वजह से अपने कामों में अच्छे से आगे nhi बड़ पाएगा उसके विचार उसके काम में रुकावट डाल सकते है ।

7. काम के प्रति लगाव 

काम के प्रति लगाव एक इसरो साइंटिस्ट में जरूरी है ताकि वो काम करते समय बोरियत महसूस न करे। देखा जाए तो हर काम में कभी न कभी बोर हो हो जाते है लेकिन आपने बोरियत जितनी कम हो आपके लिए अच्छा है ।

और अधिक जानने के लिए आप नीचे दिए गए वीडियो को देख सकते है ताकि आपको आसानी से समझ आ सके ।यह वीडियो आप यूट्यूब पर aman dhattwal जी के चैनल पर भी देख सकते है जिसका टाइटल है How to become ISRO scientist



उम्मीद है आपको हमारी ये पोस्ट की isro me scientist kaise bana jaaye पसंद आई होगी ऐसी ही और पोस्ट के लिए हमारी साइट को फॉलो करे ।

यह भी पढ़े













एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने