26 जनवरी - गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है ? | 26 जनवरी पर 10 लाइन्स 2022

26 जनवरी - गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है ? | 26  जनवरी पर 10  लाइन्स 

भारत के मुख्य राष्ट्रीय पर्वों में एक त्यौहार 26 जनवरी का भी आता है 26 जनवरी को पूरे देश में कॉफी जोरो जोरो से मनाया जाता है विद्यालयों और सरकारी कार्यालयों में इसे बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है तथा इस दिन स्कूलों में भाषण प्रतियोगिताएं डांस निबंध आदि कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जाता है। 26 जनवरी का दिन भारत के लोगों के लिए काफी गर्व की बात है क्योंकि इस दिन भारत में संविधान लागू किया गया इसी दिन को गणतंत्र दिवस के रुप में मनाया जाता है इसे इंग्लिश में रिपब्लिक डे भी कहते हैं।


26  जनवरी पर 10  लाइन्स  2022
26  जनवरी पर 10  लाइन्स  2022


तो दोस्तो सबसे पहले तो आप सभी को 26 जनवरी कि हार्दिक शुभकामनाएं। उम्मीद है आप सब बढ़िया हो । आज कि इस पोस्ट में में आपको गणतंत्र दिवस के बारे में जानकारी देने वाला हूं जिसका उपयोग आप स्कूल के होमवर्क में भी कर सकते है या फिर आप इनका उपयोग अपनी पढ़ाई के लिए या जनरल नॉलेज बढ़ाने के लिए भी कर सकते है । 

26 जनवरी  दिवस गणतंत्र

गणतंत्र दिवस को साल की 26 जनवरी को मनाया जाता है इसे राष्ट्रीय पर्व के रूप में पूरे भारत में मनाया जाता है । जिस दिन भारतीय संसद में संविधान लागू किया गया था वह दिन भारत देश पूरी तरह से लोकतांत्रिक देश बन चुका था। 

भारत के मुख्य तीन राष्ट्रीय त्योहारों में से एक त्यौहार 26 जनवरी भी है और बाकी एक त्यौहार है जिसे गांधी जयंती के रूप में मनाया जाता है जो 2 अक्टूबर को आता है और दूसरा है स्वतंत्रता दिवस जिससे 15 अगस्त के दिन मनाया जाता है। 26 जनवरी के दिन राष्ट्रीय अवकाश रहता है यानी की छुट्टी रहती है इसीलिए स्कूलों व सरकारी कार्यालयों में इससे संबंध के कार्यक्रम को एक दिन पहले ही किया जाता है जिनमें कई तरह के सांस्कृतिक कार्यक्रम शामिल है।

मिलिट्री परेड

26 जनवरी के दिन भारत की सेनाओं द्वारा जिनमें जल थल और वायु सेना शामिल है इनके द्वारा राष्ट्रपति को सलामी दी जाती है और साथ ही एक भव्य परेड का निर्माण किया जाता है जिसे देखने काफी लोगों की भीड़ जमा रहती है। देश के अलग-अलग राज्यों में 26 जनवरी का त्यौहार बनाने के अलग अलग तरीके हैं जिनमें से कई राज्य इसे खास तरह की झांकियां निकालकर अपनी संस्कृति और परंपरा को प्रदर्शित करते हैं तथा बहुत सी जगहों पर जैसे की कॉलोनियों या फिर बड़े मोहल्लों में भी इसका आयोजन किया जाता है जिनमें dance से लेकर निबंध और भी कई तरह की सांस्कृतिक गतिविधियां की जाती हैं।

सांस्कृतिक गतिविधियां

हर साल 26 जनवरी को यह त्यौहार राष्ट्रीय रूप से मनाया जाता है और इसे दिल्ली के राजपथ पर खास तौर से मनाया जाता है जहां पर परेड निकाली जाती है ।ध्वजारोहण किया जाता है, तथा साथ ही यहां पर विदेशों से अतिथियों को भी आमंत्रित किया जाता है सबसे पहले ध्वजारोहण किया जाता है उसके बाद सब लोग खड़े होकर सम्मान से राष्ट्रगान गाते हैं फिर इसी तरह आगे की गतिविधियां चलती है। इस दिन राजपथ पर लोगो का बहुत बड़ा जमावड़ा लगता है जो अपने देश कि सेना को देखने के लिए आते है उनकी भावनाएं अपने देश के लिए होती है जो उन्हे यहां खीच लाती है । लहराता ध्वज वहा खड़े हर इन्सान का में मोह लेता है ।

26 जनवरी इतिहास

9 दिसंबर 1947 को भारत के लिए संविधान सभा बनाने की शुरुआत की गई थी  जिससे 2 साल 11 महीने और 18 दिन में बना कर पूरा कर लिया गया था । इसके बाद भारतीय कांग्रेस सरकार जो समय पर थी उन्होंने भारत को एक पूर्ण स्वराज घोषित कर दिया था इसी दिन को उसके पास से 26 जनवरी या गणतंत्र दिवस के रुप में मनाया जाने लगा।

भारत एक विविधताओं का देश है जहां लोग आपस मे मिल जुलकर रहते है इसकी झलक भी परेड वाले दिन हमे दिख जाती है । इस दिन यहां कई तरह कि झांकियां निकाली जाती है ,कई तरह के नृत्य तथा पारम्परिक नाटकों का आयोजन किया जाता है जिनमें अलग अलग राज्य अपनी संकर्ती को बहुत ही उम्मदा तरीके से प्रदर्शित करते है जिसे देखें ऐसा लगता है कि आप भी उन्हीं में से एक हो ।

26 जनवरी के दिन विमानों तथा जहाजों का भी प्रदर्शन किया जाता है जिसमें बहुत तरह के जहाज़ी तख़्तों को बड़ी बड़ी गाड़ियों पर परेड में लाया जाता है। केवल धरती पर ही भी राजपथ के उपर से जिन विमानों को उड़ाया जाता है वो तरह तरह के रंग बिखेरते हुए जाते है तथा कुछ तो रंगों के माध्यम से भारत का राष्ट्र ध्वज भी banaya jata है को देखने मे काफी अच्छा लगता है ।

पतंग बाज़ी

मध्य भारत में इस दिन पतंग भी उड़ाई जाती है जिसे बच्चो के साथ साथ बड़े भी जोरो शोरो से उड़ाते है । पतंगों पर कई तरह के ग्रीटिंग्स लिखी जाती है या wishes लिख के उड़ाया जाता है  ।

26  जनवरी पर 10  लाइन्स 

  1. 26 जनवरी को गड्तंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है।
  2. इसे एक राष्ट्र पर्व की तरह धूम धाम से मनाया जाता है  
  3. इस दिन सभी विद्यालयों में व सरकारी दफ्तरों में छुट्टी होती है। 
  4. इस दिन दिल्ली राजपथ पर परेड निकली जाती है। 
  5. 26 जनवरी के एक दिन पहले ही स्कूल व सरकारी कार्यालो में कार्यक्रम मना लिए जाते है। 
  6. इस दिन विदेशो से अतिधियो को आमंत्रित किया जाता है। 
  7. इसी दिन भारत एक लोकतान्त्रिक देश बना था। 
  8. देश के विभिन्न राज्य अपनी संस्कृति का प्रदर्शन करते है। 
  9. भारतीय सेना अपनी सेना बल का प्रदर्शन करती है जो काफी मनोरंजक व गौरव भरा होता है। 
  10. इस दिन भारत ने अपने नियम व कानून लागू किये थे। 


गणतंत्र दिवस 2022 सम्बन्धित प्रश्न उत्तर

प्रश्न : गड्तंत्र दिवस कब बनाया जाता है ?
उत्तर : 26  जनवरी 

प्रश्न : गड्तंत्र दिवस का क्या अर्थ है ?
उत्तर : गड्तंत्र दिवस  का अर्थ है ''जनता द्वारा जनता पर शासन''। 

प्रश्न : भरत का संविधान किसके द्वारा लिखा गया था ?
उत्तर : भरत का संविधान भारत की संविधान समिति द्वारा लिखा गया था। 

प्रश्न : गड्तंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है? 
उत्तर : क्योकि इस दिन देश में संविधान लागू किया गया था। 

प्रश्न : परेड किसे कहते है?
उत्तर : 26 जनवरी के दिन हमारे राष्ट्र पति और राष्ट्र ध्वज को भारतीय सेना द्वारा सलामी की जाती है व् शक्ति प्रदर्शन भी किया जाता है तथा रैली व झाकिया निकली जाती है जिसे परेड कहते है। 

प्रश्न : संविधान को बनने में कितना समय लगा था ?
उत्तर : 2 वर्ष 11 माह 18 दिन में 26 नवम्बर 1949 को पूरा किया गया। 

तो उम्मीद है दोस्तो आपको हमारी ये पोस्ट 26 जनवरी क्यों मनाते है  ये जानकारी अच्छी लगी होगी अगर हा तो हमारा इंस्टाग्राम पेज को भी फ़ॉलो कीजिए जिससे आप अपनी जर्नल नॉलेज को बड़ा पाए तथा रोज कुछ ना कुछ नया सीख पाए ।


एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने