Exam Prepration Tips In Hindi | परीक्षा की तैयारी कैसे करे ?

एग्जाम की तैयारी कैसे करे ? तो दोस्तो ये सवाल हर स्टूडेंट के मन में रहता है । हर कोई चाहता है कि उसके पेपर मे मार्क्स अच्छे आए चाहे वो कोई से भी पढ़ाई क्यों ना कर रहा हो ।अगर आप भी इसी वजह से इस पेज पर आए है तो मै ये कहना चाहता हूं कि आप सही जगह पर आए है ।

Exam Prepration Tips In Hindi
Exam Prepration Tips In Hindi 

एग्जाम की तैयारी कैसे करे ? | Exam Prepration Tips In Hindi 

इस पोस्ट मे हम एग्जाम प्रिप्रशन (Exam Prepration) कैसे करे ? इसी टॉपिक पर आपको कुछ टिप्स देंगे । यहां पर को बाते मे बताने वाला हूं वो आपको परीक्षा की तैयारी करने मे बहुत उपयोगी साबित होंगी । तो चलिए देखते है ऐसे को से पॉइंट्स है जिन्हे आप फॉलो करके अच्छे नंबर ला सकते है ।


Pattern 

फर्स्ट जो चीज आती है वह आती है पैटर्न, आपको आपके सिलेबस का पूरा पैटर्न पता होना चाहिए 100%।
इसी आधार पर आपको तैयारी करनी है । कई स्टूडेंट्स ऐसे होंगे जिन्हें अभी तक Exam Pattern नहीं पता होगा तो हम आपको बताते है वो 3 तरीके जिससे आप अपने exam pattern को पता कर सकते है ।


1) टीचर 

पहले तरीका है आप अपने टीचर से पूछे अपने एग्जाम पैटर्न के बारे में क्योंकि आपके टीचर आपको इस विषय में सही और सटीक जानकारी देंगे और साथ में आपको जो समझ नहीं आएगा वो उसे आपको समझा भी देंगे ।

2) Privious Exam Paper 

आप पिछले साल के पेपर्स उठाए और उसे analysis करे आपको उससे पता लगेगा और आपको ये भी ज्ञान हो जाएगा कि किस तरह के quations आपको पूछे जाएंगे और कितने numbers के वो प्रश्न होंगे ।

3) Syllabus

तीसरा तरीका है आप अपना सिलेबस download कीजिए और अपने टीचर से भी वेरिफाई करा लीजिए क्योंकि कई बार गलत डाउनलोड हो जाता है ।


इन तीनों तरीको से अपको आपके एग्जाम पैटर्न के बारे में पता लग जाएगा और ये जरूरी भी है कि जिस पेपर की आप तैयारी करने जा रहे हो अगर उसका पैटर्न आपको पता है तो मान के चलिए आपके लिए उस पेपर को पास करना तथा अच्छे नंबर लेना बहुत आसान हो जाता है ।


Writing format 

अब देखिए आपके एग्जाम में दो तरह के प्रश्न आते है एक होता है Theory और दूसरा होता है Theory + Numerical । अब आप इन दोनों तरह के प्रश्नों के उत्तर एक ही तरह से नहीं लिख सकते । तो आप इन सवालों के जवाब देने के लिए नीचे लिखे हुए टिप्स को फ़ॉलो कीजिए :-

लिखावट (Writing)

आपकी लिखावट बहुत मायने रखती है पेपर चैकिंग के समय । जो चैकर होता है वो आपकी लिखावट पर ही सबसे पहले नजर डालता है और उसी के आधार पर कई बार ( हमेशा नहीं ) आपको नंबर देता है ।

उत्तर कि लंबाई (Paragraph Size)

जितना हो सके कोशिश कीजिए कि आप को भी टॉपिक लिख रहे हो उसे ज्यादा से ज्यादा अच्छी तरह लिखे और उसकी lenght अच्छी हो ,ना ही उत्तर ज्यादा बड़ा होना चाहिए जैसे कि कोई 3 नंबर के उत्तर मे आप एक पेज नहीं लिख सकते है वैसे ही नंबर के हिसाब से उत्तर दीजिए , और ना ही आपका उत्तर बहुत छोटा हो ।

काटापिटी नहीं चलेगी 

ये भी बहुत जरूरी है कि आप कोशिश करे कि आपके उत्तर पुस्तिका में ज्यादा काटापिटी ना हो ,क्योंकि इससे आपकी कॉपी का लुक बहुत खराब हो जाता है और वो देखने मे भी अच्छा नहीं लगता ।

नंबर वाले उत्तर (Numeric Solutions)

Numeric वाले प्रश्न मे सबसे पहले आपको प्रश्न मे जो भी (Given) दिया रहता है उसे जरूर लिखे क्योंकि इस छोटी सी चीज के भी नंबर दिए जाते है । एक एक step को सही तरीके से लिखे और लाइन के बीच spacing का जरूर ध्यान रखे ।

Exam Prepration Tips In Hindi


अगर उत्तर मे आपको लगता है कि यह डायग्राम बनेगा तो उसे जरूर बनाए और उसे भी ना ज्यादा छोटा और ना ही ज्यादा बड़ा ,उसे भी एक सही आकर मे और साफ बनाए ।

इन points के बाद अब बारी आती है कि theory और numerical quations की तो चलिए देखते है अच्छे मार्क्स लेने के लिए उत्तर कैसे लिखे ?


Theory वाले प्रश्नों के उत्तर कैसे लिखे ?

  • क्या है?
  • क्यों है / क्यों होता है ?
  • क्या प्रभाव है ?/ क्या नुकसान करता है ?
  • Advantage क्या है ?/ Disadvantage क्या है ?
  • किन तरीको से बचा जा सकता है ?/ बचाव क्या है ?
  • किस तरह से रोका जा सकता है ?
  • निष्कर्ष क्या निकलता है ?


नहीं समझ आया ? चलो कोई बात नहीं चलिए इसे समझने के लिए एक टॉपिक लेते है प्रदूषण (Pollution)

इन प्रश्नों के उत्तर देने के लिए सबसे पहले जिस भी चीज या टॉपिक के बारे में बात हो रही है उसे लिखे कि वो क्या है ? यहां पे आपको बताना है कि पॉल्यूशन आखिर है क्या ।

फिर आपको बताना है कि ये किस वजह से होता है या इसके होने के पीछे क्या कारण है ? यहां आपको लिखना है कि प्रदूषण आखिर क्यों होता है ।


Also read


फिर आपको इसके प्रभावों के बारे में बताना है कि प्रदूषण का इंसानों के साथ साथ और किन चीजों पर प्रभाव पड़ता है । प्रभाव अच्छे ओर बुरे दोनों हो सकते है (पर प्रदूषण के कोई अच्छे प्रभाव नहीं होते इसलिए यहां केवल उसके दुषपरिणामों का जिर्क किया जाएगा )

अब इसको रोकने के क्या उपाय है वो बता सकते है जितने भी अच्छे उपाय आप सोच सकते है वो लिखे ।

आप इनके advantage और disadvantage भी लिख सकते है पर इस प्रश्न मे ये नहीं लिखाएगा ।

कहने को मतलब है की आखिर मे आपको उन समस्याओं के हल बताने होते है ।

फिर आप आपको ये इस तरह से लिखना है कि पड़ने वाले को समझ आ जाए तथा इसमें (main) points को जरूर underline करे जिससे होगा ये कि आपका एग्जामिनर उस वर्ड को देखे के समझ जाएगा कि आपको इसका उत्तर पता है ,ऐसे इसलिए करना होता है क्योंकि कोई भी पूरा उत्तर नहीं पढ़ता वो केवल main points देखता है । ऐसा हम नहीं कह रहे है ऐसा हमे टीचर्स ने खुद बताया है ।


Numerical प्रश्नों के उत्तर कैसे लिखे ?

जैसा कि आपको पहले ही बता दिया है आपको सबसे पहले given data लिखना होता है फिर step by step प्रश्न को हल करना है ।

हा एक बात और है कि हल करने से पहले आप एक बार कम से कम पूरे प्रश्न को पढ़िए फिर उसे समझ कर उत्तर लिखना चालू कीजिए ,क्योंकि कई बार जल्दी के चक्कर मे बच्चे गलत तरीके से प्रश्न को समझ लेते है और वो फिर गलत हो जाता है ।

आप जो भी नंबर लिखे उसे टेडा मेडा ना लिखे कई बार ऐसे लिखे हुए नंबर से धोखा हो जाता है उसे चैकर दूसरा नंबर समझ कर काट देता है और नंबर नहीं देता है ।

फिर नीचे answer आ जाने के बाद उस value को बॉक्स में जरूर डाले ताकि चैकर की नजर direct उत्तर पर पड़े और वो सही उत्तर देखकर आपको पूरे नंबर दे दे ।


Time - table जरूर बनाए 

अब कई स्टूडेंट्स क्या करते है कि वो टाइम टेबल को जुड़ा महत्व नहीं देने है है एक बहुत बड़ा कारण है कि वो एक अच्छा स्कोर नहीं कर पाते है । 

आपके लिए टाइम टेबल बनना बहुत जरूरी है दोस्तो क्योंकि ये आपको टाइम मैेजमेंट सिखाता है जो आपको पेपर के वक्त भी बहुत काम आता है । आप टाइम तबके अपने हिसाब से बनाए लेकिन जरूर बनाए । टाइम टेबल मे पांच या दस मिनट के गैप जरूर रखे ताकि पढ़ते वक्त बोर ना हो जाओ।


उत्तर को याद कैसे करे ? ताकि बाद में ना भूले ।

यार देखो ये चीज हर किसी के साथ होती है कि को पड़ा हुआ सब भूल जाते है तो भाई इसके कई कारण है लेकिन जो main कारण है वो है इंट्रेस्ट । अब आप बोलोगे इंटरेस्ट कैसे ? तो भाई अब एक बार आपके दिन मे किए हुए कामो को याद करो मै गारंटी देता हूं आपको वहीं काम याद आएंगे जो आपने इंटरेस्ट के साथ किए होंगे ।

अब आप बोलोगे पढ़ाई मे इंटरेस्ट कैसे लाए तो यार इसके लिए आपको आपका माइंडसेट बदलना होगा, आपको पढ़ाई को केवल पढ़ाई के तरह नहीं देखना है वो आपका भविष्य है आपको ये मानके चलना होगा । क्योंकि यही तो वो चीज है जो आपको जिंदगी में जीने के रास्ते खोलेगी ।


Also read 


आपको जब भी पढ़ाई करे ना फोन को अपने से बहुत दूर कर देना है और हो सके तो स्विच ऑफ । क्योंकि यार पढ़ाई के टाइम एक यही ऐसी चीज है जो सबसे ज्यादा परेशान करती है । एक नोिफिकेशन आती है आप फोन उठा लेते है और फिर तो कम से कम आधे घंटे बाद आपको याद आता है कि यार ये तो टाइम वेस्ट हो गया ।


Meditation

हा पढ़ाई से पहले 5 मिनट का मेडिटेशन आपके दिमाग को शांत करने के लिए बहुत हेल्प कर सकता है ।आप मेडिटेशन के साथ रिलैक्स करने वाला music भी सुने जिससे आपके दिमाग को आसानी से शांत किया जा सके।

और पढ़ा हुआ याद रखने के लिए आप साथ मे एक कॉपी भी लेके बैठे जिससे आपको एग्जाम के टाइम कि लिखने को प्रेक्टिस भी हो जाएगी और लिखा हुआ याद भी रहेगा और साथ ही आपकी लिखावट भी सुधरेगी ।

आप जितना हो सके कोशिश कीजिए कि आज का पढ़ा हुआ टॉपिक कल जरूर पढ़े । ज्यादातर स्टूडेंट्स इसी वजह से सब भूल जाते है क्योंकि वो आज का पड़ा हुआ याद नहीं करते ।अगर आप ये करते है तो मै शर्त लगा सकता हूं कि आप आपका पढ़ा हुआ जल्द ही नहीं भूलेंगे। 


तो आज के इस पोस्ट में मैंने आपके साथ कई दिलचस्प बातें शेयर करे है ताकि आपकी exams में आप अच्छे नंबर ला सके । और उम्मीद है पोस्ट से आपको पढ़ाई के लिए कुछ अच्छे टिप्स मिले है अगर आपको ये टिप्स पसंद आए है तो हमे कॉमेंट मे जरूर बताए ।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने